परातः कालीन यजञ वं सतसंग

आर्य समाज मंदिरों में परतिदिन परातः काल के समय देव यजञ (हवन) किया जाता है.

more..

सायं कालीन यजञ वं सतसंग

आर्य समाज मंदिरों में परतिदिन सायं काल के समय देव यजञ (हवन) किया जाता है.

more..

सापताहिक यजञ वं सतसंग

आर्य समाज मंदिरों में सपताह में क दिन (अधिकतर रविवार) परातः काल के समय विशेष देव यजञ (हवन) किया जाता है. यजञ के पशचात विशेष सापताहिक सतसंग किया जाता है.

more..

आर्य वीर दल शाखा

आर्य समाज मंदिरों के परांगण में नवयवको को संसकृति, शकति वं सेवा भावना से ससंसकृत करने हेत परतिदिन आर्य वीर दल की शाखा लगाई जाती है. ये आर्यवीर आर्य समाज के कारयो में सहयोग देते हैं. भविषय में ये आर्य वीर ही आर्य समाज के कारयो को सभालते हैं.

more..

आर्य वीरांगना दल शाखा

आर्य समाज मंदिरों के परांगण में नवयवतियो को संसकृति, शकति वं सेवा भावना से ससंसकृत करने हेत परतिदिन आर्य वीरांगना दल की शाखा लगाई जाती है.

more..

वेद परचार सपताह

आर्य समाज मंदिरों में वैदिक धरम के परचार हेत वेद परचार सपताह का आयोजन किया जाता है. यह साधारणतया शरावण मास में आयोजित किया जाता है.

more..

वार्षिकोत्सव

आर्य समाज मंदिरों में परतिवरष वार्षिकोत्सव मनाया जाता है.

more..

Shuddhi

Shuddhi is that door through which Non Hindus can accept the Satya Sanatan Vedic Dharma

more..

Ladies Satsang

Special Satsang are held in Arya Samaj Temples for Ladies.

more..