Huge Meeting for IAMS

Huge Meeting organized by Delhi Arya Pratinidhi Sabha

05 Aug 2018
India
Delhi Arya Pratinidhi Sabha

भारत एवं दिल्ली के कार्यकर्ताओं, अधिकारियों एवं समस्त आर्य समितियों  की विशाल बैठक रघुमल आर्य कन्या सी. सै. स्कूल, राजा बाजार, दिल्ली में 5 अगस्त 2018 को महाशय धर्मपाल (चेयरमैन एम.डी.एच. ग्रुप)  की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई |

देश की विभिन्न आर्य समाजों से आए पदाधिकारियों ने अपने-अपने क्षेत्र से आर्य महासम्मलेन- 2018 में भारी संख्या में आने का आश्वासन दिया। उमस और भीषण गर्मी के बावजूद बैठक में उपस्थित कार्यकर्ताओं की संख्या लगभग 450 थी। भारतवर्ष के विभिन्न प्रान्तों से आये आर्य प्रतिनिधि सभाओं के अधिकारियों का परिचय कराया गया जैसे श्री राकेश चैहान (जम्मू-कश्मीर ), आचार्य अंशुदेव आर्य ( छत्तीसगढ़, पं. सत्यवीर शास्त्री, (विदर्भ), श्री हसमुख परमार (गुजरात), श्री कन्हैया लाल व मा. रामपाल (हरियाणाद्ध, डॉ. चन्द्रशेखर लोखण्डे (लातूर, महाराष्ट्र ), श्री दयाराम बसैये (औरंगाबाद), श्री प्रबोदचन्द्र सूद (हिमाचल प्रदेश), श्री देवेन्द्रपाल वर्मा (उत्तर प्रदेश)।

दिल्ली सभा की उपप्रधान श्रीमती मृदुला चैहान, श्री सुरेन्द्र कुमार रैली वरिष्ठ उपप्रधान, आर्य केन्द्रीय सभा, श्री प्रेम अरोड़ा, सार्वदेशिक आर्य  प्रतिनिधि सभा प्रधान श्री सुरेशचन्द्र अग्रवाल, मंत्री श्री प्रकाश आर्य, दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा प्रधान श्री धर्मपाल आर्य मंच की शोभा बढ़ा रहे थे तथा सभी ने आर्य महासम्मेलन 2018 में अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होने के लिए आर्य प्रतिनिधियों का आह्वान किया। दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा महामंत्री श्री विनय आर्य ने महासम्मेलन की कार्य कुशलता के तहत बनाई सभी व्यवस्था समितियों, का हवाला देते हुए कहा कि ये सब समितियां बहुत ही बहुउपयोगी व महत्वपूर्ण हैं चाहे वे छोटी हैं या बड़ी। सभी समितियों के अध्यक्ष एवं संयोजकों व उनके कार्यकर्ताओं का परिचय कराते हुए व्यवस्था समितियों की विस्तृत जानकारी दी। महासम्मेलन में होने वाले विशाल एक रूप यज्ञ की हो रही तैयारियों से भी आर्य प्रतिनिधियों को अवगत कराया।

सार्वदेशिक सभा प्रधान श्री सुरेश चन्द्र अग्रवाल जी ने समस्त आर्य प्रतिनिधियों एवं मातृशक्ति को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश व समाज में फैल रहे पाखण्ड और अन्धविश्वास को यदि मिटाना है तो हमें एक जुट होना होगा। जब तक हम संगठित नहीं होंगे तब तक देश व समाज में कोई परिवतर्न नही  जा सकतें |  आजकल जिस प्रकार देश में ढोंगी बाबाओं ने अपना माया जाल बिछा रखा है यदि इसका खात्मा जल्द से जल्द नहीं किया गया तो आने वाले समय में इसके परिणाम बहुत ही घातक हो सकते हैं। दिल्ली सभा प्रधान श्री धर्मपाल आर्य ने कहा कि ‘यह महासम्मेलन सिर्फ सार्वदेशिक सभा या दिल्ली सभा का सम्मेलन नहीं है बल्कि ये सम्मेलन आर्य संगठन की शक्ति का परिचय देने का समय है।’ महासम्मेलन के प्रचार-प्रसार के लिए प्रचलित मोबाईल कॉलर ट्यून ‘विश्वमार्यम् का जय घोष करें आर्य महासम्मेलन....’ के गीत के रचयिता श्री सारस्वत मोहन मनीषी जी ने अपनी कविताओं के माध्यम से अपने उद्गार व्यक्त किये। दलित समाज हिन्दुओं का अभिन्न अंग है, उन्हें विभाजित नहीं किया जा सकता। आर्य समाज व सनातन धर्म सभा ऐसे षडयन्त्रों के विरुद्ध जन जागरण अभियान चलाया जायेगा। सामाजिक कुरीतियां निवारण में आर्य समाज अपने जन्मकाल से समर्पित रहा है। स्वामी सुमेधानंद सरस्वती ने सार्वदेशिक आर्य प्रतिनिधि सभा एवं दिल्ली सभा के संयुक्त तत्वाधान में 25 से 28 अक्टूबर तक स्वर्ण जयन्ती पार्क, रोहिणी में होने वाले अन्तर्राष्ट्रीय आर्य महासम्मेलन की तैयारी हेतु हुई इस विशाल बैठ में कहे। उत्तरी  दिल्ली के महापौर आदेश गुप्ता ने कहा देश की आजादी में आर्य समाज के नेताओं की सशक्त भूमिका रही, बुद्धिजीवी आर्य नेतृत्व हेतु दोबारा सामाजिक चेतना के लिए आगे आयें, इस महासम्मेलन की व्यवस्थाओं हेतु जो भी कार्य होंगे उनको मैं हर  सम्भव नगर निगम की ओर से सहायता प्रदान की जाएगी। दिल्ली विधान सभा के पूर्व अध्यक्ष डॉ. योगानंद शास्त्री और पूर्व मंत्री रमाकान्त गोस्वामी, एमेटी विश्वविद्यालय के डॉ. आनंद चैहान, स्वामी उत्तमायति ने विश्व की आर्यसमाजों के इस महाकुम्भ को हर तरह से सफल बनाने का आह्वान किया।

इस बैठक में दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा के सभी अधिकारी आर्य केन्द्रीय सभा के सभी अधिकारी, सभी वेद प्रचार मण्डलों के अधिकारी, प्रान्तीय व अन्य महिला वेद प्रचार मण्डलों के अधिकारी, दिल्ली के गुरुकुलों व आर्य विद्या परिषद से सम्बन्धित सभी अधिकारी बहुत ही उत्साह व उमंग के साथ उपस्थित हुए तथा हाथ खड़े करके व जय घोष के साथ आश्वस्त किया कि होने वाले आर्य महासम्मेलन-2018 को हर सम्भव सफल बनाने का प्रयास करेंगे ये दिल्ली के सभी आर्यजनों की इज्जत का सवाल है।

- सतीश चड्डा, महामन्त्री,आ.के. स

 

Meeting of Workers for Promotion of Conference in Kerala

28th Arya Mahasammelan