102 Annual Function

20 Mar 2021
India
आर्य समाज घरौंडा

आर्य समाज के वार्षिक उत्सव में मानव व्यवहार से अवगत कराया घरौंडा, 20 मार्च आर्य समाज घरौंडा के 102वें वार्षिक उत्सव के दूसरे दिन प्रभात फेरी, चतुर्वेद शतकम् यज्ञ व भजन ओर उपदेशों का व्याख्यान हुआ। इस दौरान आर्य जगत की प्रसिद्व विदूषि भजनोपदेशिका संगीता आर्या ने उपदेशक के रूप में आर्य जगत के प्रसिद्व सन्याशी स्वामी सच्चिदानन्द जी ने भाग लिया। इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में केन्द्रीय आर्य सभा नई दिल्ली के महामंत्री विनय आर्य ने , मुख्य अतिथि के रूप में देव सिनियर सकैंडरी स्कूल बरसत के डायरैक्टर पवन धमीजा ने, सम्मानीय अतिथि के रूप में के.डी.एम.सिनियर सकैंडरी स्कूल घरौंडा के डायरैक्टर उमेश चुघ ने, विशिष्ठ अतिथि के रूप में युवा समाज सेवी धीरज खरकाली ने, कार्यक्रम अध्यक्ष के रूप में कांगे्रस कमेटी के पूर्व प्रदेश महासचिव रमेश सैनी ने भाग लेकर लोगों को आर्य समाज के संस्थापक स्वामी दयानन्द सरस्वती के दिखाए रास्ते पर व वेदों पर चलने का आह्वान किया। इस अवसर पर मुख्य वक्ता विनय आर्य ने कहा कि आज देश के सामने बहुत बड़ा खतरा है। जिसे लेकर सावधान होने की आवश्यकता है। आज हमारे शत्रु देश भारत की लोकप्रियता से विचलित हैं। उन्होंने कहा कि आज हिन्दू बंटा हुआ है। जिसका विरोधी लाभ उठा रहे हैं। आर्य समाज ने देश से छुआछूत व जाति-पाति के जहर को मिटाने का काम किया है। हमें ओर ज्यादा मजबूति से इन सामाजिक बुराईयों को मिटाना है। जिससे हमारा देश उन्नति करेगा। इस अवसर पर स्वामी सच्चिदानन्द जी ने लोगों को ईश्वर भक्ति का मार्ग बताया व कहा कि परमेश्वर कण-कण में विद्यमान है तो उस पूरे संसार को बनाने वाले को हम कोई आकार कैसे दे सकते हैं। इस अवसर पर संरक्षक सुभाष आर्य, प्रधान मास्टर जयप्रकाश आर्य, महामंत्री दिलबाग आर्य, कोषाध्यक्ष सुभाष आर्य, शीशपाल आर्य, वतन आर्य, सामर्थ आर्य, पारस आर्य, गीता आर्य आदि भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।

102 Annual Function